Friday, September 14, 2018

यूनियन कार्बाइड के वारेन एंडरसन के वकील का अनुभव 
वोडाफोन की बड़ी टैक्स की केस का अनुभव 
मलय्या को भागने में मद्त करने के काम तो आयेंगा ना 

जिसने इतने लोग मरने के बाद वारेन एंडरसन को इतनी बड़ी केस से इंडिया के बहार भिजवा कर करोडो कमा लिए थे 

वोह खाली जनसेवा में सलाह भी नहीं देंगे 
गोबर गिरता है तो कुछ लेकर ही। ......... 
 जय गोबर पिटारा की पार्टी को अनेक गोबर पिटारा मिले.... 

Wednesday, August 29, 2018

*जुमला स्वामी को "चुन"लाव्  स्वामी कैसे और कितने में प्रसन्ना हुवे होंगे*
*कोई गेस ??*
*कोई टीका टिंप्पणी करने की  हिम्मत तो जुमला संघटन में नहीं है*
*हर चोर अपनी पुरानी किये ह्यवे चोरी की वजह से डरा डरा है*
*कही उसकी फाइल ना खोल दे ??*
*क्या आपको क्या लगता है?*

साला न्यूटन भी सोच रहा होगा 


इतने शास्त्रज्ञ इतने नमूने एक साथ कैसे पैदा हों गए ??


बत्तख के तेरने से पानी को आक्सीजन मिलती है

इंटरनेट महाभारत काल से था 


पुष्पक विमान में रावण आ सकता था  तो भगवान होकर राम को जमीनी मार्ग से श्रीलंका क्यों जाना पड़ा वो भाई इंसानो के साथ बंदरो का भी सहकार्य


भगवान् होकर राम जन्म भूमि पे भगवान् ने मस्जिद कैसे बनने दिया

मेंढक मेंढकी की शादी से बरसात होती है सीता टेस्ट टयूब बेबी थी मोर को रोने से मोरनी गर्भवती होती है नाले की गैस से चाय बनाते थे 125 लोकसंख्या वाले देशमें 600 करोड़ मतदाता पैदा करना 125 करोड़ लोकसंख्या में 125 लोगो के पास गैस नही है क्या तो उज्ज्वला योजना की जरूरत ही क्या 125 करोड़ लोगों ने सबसिडी छोड़ दी करके बोल देते है और ये नमूनों की फौज ...... भारत को विश्व गुरु बनायेंगी

हे राम 

Sunday, August 5, 2018

लालच बहुत बुरी होती है
पंधरा लाख की हो या
सत्ता की
दोनों
लालच के साथ भरोसा किसपे रखना ये भी बड़ी काम की बात
लुच्चे लफंगे ही मिठा मिठा बोलकर धोका दे सकते है
कंनिंग नेस या कमीना नेस 

Friday, August 3, 2018

आज अखबारों की हेडलाइन तक की बोली लग रही है पत्रकारिता अब पैशन नही पैसा कमाने का साधन बन गया है.. चँनलोपर बैठे एंकर लोग उनकी बात सुनकर ऐसा लगता है 
अंतरात्मा की बजाय 
बैंक बैलेंस कैसे बढ़ाये 
उसकी पड़ी है

बोल तोल मोल के बजाय तोल मोल अदा करके बोल ऐसा ही लोग 
देशभक्ति में देश भारत के बजाय मो.शा.भक्ति हो गया है
और है भक्ति की सकती भी लग रही है

जब कोई आश्वासनों की बौछार करके एक भी आश्वासन की पूर्ति नहीं करता और इधर इधर की मीठी मीठी बाते करता है तो समझो वो आपको घूमा रहा है

जब कोई महीनो से
जब कोई सालो से
यह कर रहा है और आपको अभी भी उसके चिकनी चुपड़ी बातो पे विश्वास हो रहा है तो आप मुर्ख हो सकते हो
बेवखूफ़ हो सकते हो
आपको चुना लग सकता है
चुना लगा रहा है

सोचो समझो और काम करो। .....
मार्केटिंग के फंडे में गुन्डे भी चिकनी चुपड़ी बाते कर सकते है

आपको अपने आपको बचाना है 

Monday, July 30, 2018

कामा  पेक्षा "मार्केटिंग ला "जास्त किंमत असते
या जगात नाते तर सर्वच जोडतात..
काही व्हाट्सप्प फ़ोन ईमेल ने जोडतात
काही  प्रत्यक्ष देशदेशात जावूनच व्हाट्सप्प फ़ोन करतात किंवा भाषण करतात
यूट्यूब वर भाषण अपलोड केल्यास गोदी गोदी करणाऱ्यांना ३००-५०० तरी द्यावे लागणार नाहीत
कामा  पेक्षा "मार्केटिंग ला "जास्त किंमत असते

पण आश्वासना पेक्षा" विश्वासाला " जास्त किंमत असते🙏🏻🙏🏻🙏🏻🙏🏻
*कोंग्रेस वाल्या साथी इस स्पेशल
*कामा  पेक्षा "मार्केटिंग ला "जास्त लोक भूलतात*