Sunday, August 13, 2017

2019 में ढोंगी सरकार...या योगी सरकार....... योगी जी.....?? 
संभावना एकदम शांत....... मनसे सोच लो...... 
क्या राजनीति में सब जायज़ है?
पत्ता कट कैसे होता है
कैसे कट करवाते है

सोचना
परखना

यह सब सोचने के लिए भी अकल ही लगती है
नहीं तो भी आज कल अकल का अकाल ही पड़ा है

पढ़े लिखे लोक टीवी पे बताई हुवी जाहिरात को न्यूज़ मान लेते है
न्यूज़ और जाहिरात का फर्क सोचो
बाइक हुवे लोग
६०-७० बच्चे मरते है और ढोंगी लोग सियाचिन के बर्फ दिखते है
बीके हुवे या दबे हुवे या डरपोक या बदमाश क्या सोच सकते यह आपकी सोच और सिर्फ अकल के ऊपर है

आपको दिखाया हुवा क्यों दिखाया जा रहा
और क्या छुपाया जा रहे
सोच लो
अपनी अकल चलावो

Wednesday, August 9, 2017

अपने कुंडली में अनिष्ट स्थानों में बैठे हुवे या अनिष्ट स्थानों का फल देनेवाले ग्रहो के  भगवान् का पूजन
आपके कष्ट ज्यादा कर देते है
यश दूर भागता है

कई जातक अपने पूजा स्थान में  होलसेल में सभी भगवान की दुकान लगा देते है
रस्ते में १०-२० -५० रुपये भगवान् की फोटो घर पे फ्रेम लगाने से भगवान् प्रसन्न होते है क्या ??
२००० की नोट की ज़ेरॉक्स को फोटो फ्रेम में मंदिर में लगाने से पैसे मिलेंगे ??
सोचते हो सोचो
कही किधर की भी फोटो केवल अपने घर में लगाने से क्या फर्क पड़ेगा ???

ये कोई आम आदमी जैसे भगवान् भी सोचते होंगे की
में इसको कोई मदत क्यों करू बाकि के करेंगे ना
ये तो हर भगवान का भक्त है

सोचो और समझो
आपके कुंडली में सबसे ज्यादा स्ट्रांग और आपको फायदा पहुचनेवाले ही भगवान की आराधना करे
राजीव बोकरिया 

Satyamev jayte    सत्यमेव जयते 
satta meva jayte  सत्ता मेवा जयते 
satta me va jay te सट्टा में वा जय ते 
satta meva jay te  सट्टा मेवा जय ते 

तीस करोड़ की छटपटाहट क्या होती है ये तो कल देखने को मिली.. साहब को एक एक पैसे की बरबादी तीस करोड़ की छटपटाहट क्या होतीतीस करोड़ की छटपटाहट क्या होती है ये तो कल देखने को मिली.. साहब को एक एक पैसे की बरबादी ख़राब लगती है
 है ये तो कल देखने को मिली.. साहब तीस करोड़ की छटपटाहट क्या होती है ये तो कल देखने को मिली.. साहब को एक एक पैसे की बरबादी ख़राब लगती हैको एक एक पैसे की बरबादी ख़राब लगती है
ख़राब लगती है

Monday, August 7, 2017


राम ने रावण को मारा  राम रावण दोनों एक ही राशि के बोलेंगे 
अहमद ने अमित अंदर डलवाया ??
अहमद ने २००४ से २०१४ तक कैसे कैसे बचवाया  ??
वही अहमद आज अपनी कुर्सी बचवाने के लिए तड़प रहा है 

ब्यूरो को साथ 
बुरो का साथ 
बुराईको का साथ 
सबका साथ सबका का या विनाश या पूर्ण नाश 

Thursday, August 3, 2017

गोदी मीडिया  बोले की  जाहिराती मीडिया बोले
जब नविन खेतान के ट्वीट से पता चलता है की शिवकुमार के घर ऑफिस पे इनकम टैक्स की रेड में ना करोडो में कॅश बरामद हुवी
https://twitter.com/navinkhaitan/status/893100532721758208

लेकिन झुटली साब ने तो और झूट बोलै ना शिवकुमार रिसोर्ट में छुपकर बैठे थे ना

http://www.jantakareporter.com/india/arun-jaitley-congress-mlas/140456/  

जिंदगी में जब भी यश मिलता है तब समझता है अपने कौन है
जिंदगी में जब भी बड़ा पद मिलता है तब समझता है आपको "अपना"  बनानेवाले आपके सच में कोई लगते तो भी है या नहीं ??
अनंत चिपकूराम चिपकने चले आते है

Tuesday, August 1, 2017

जबसे नोटबंदी  हो गयी
नोट क्या इंडिया के बंद हुवे
डॉलर यूरो मिलना भी  बंद हो गए
इंडिया में आना ये सोच भी दूर